Online News Portal

LIFESTYLE: कीटो और वेगन छोड़िए, ट्राई करें गोलो डाइट, वजन होगा कंट्रोल और भूख भी लगेगी कम

16


आज कल के खराब खान पान और लाइफस्टाइल के कारण हमारी बॉडी पर काफी असर पड़ रहा है। आज के समय में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जिसे कोई बीमारी न हो सभी को कुछ न कुछ समस्या है। खासकर वजन बढ़ने की समस्या तो आम बात है। इसके लिए वह कईं तरीके की डाइट का सहारा भी लेते हैं। कोई कीटो डाइट लेता है तो कोई वेगन लेकिन क्या आप जानते हैं कि गोलो डाइट भी बढ़ते वजन को कम करने के लिए काफी मददगार साबित हो सकती है। हालांकि आप में से बहुत से लोगों ने इसका नाम पहली बार सुना होगा लेकिन यह आपके शरीर और आपके दिमाग के लिए फायदेमंद है तो चलिए आपको बताते हैं इसे करना का तरीका और इससे होने वाले फायदे।

सबसे पहले तो आपको बताते हैं कि गोलो डाइट कैसे मददगार है?

दरअसल गोलो डाइट एक तरीके की ऐसी डाइट होती है जिसमें कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है इसमें आप फल खाते हैं, सब्जियां खाते हैं  और मीट भी खाते हैं जिसके कारण से आप की भूख भी मिट जाती है और आप आसानी से इसका सेवन भी कर पाते हैं। इसे करने से आपका वजन कम होता है। भूख भी ठीक रहती है और गोलो डाइट आपके शरीर में एक्स्ट्रा फैट को भी जमा नहीं होने देता है। गोलो डाइट आपके मेटाबॉलिज्म को भी मैनेज करते हैं।


क्या होती है गोलो डाइट?

अब आपको बताते हैं कि आखिर गोलो डाइट क्या है और यह क्यों दूसरी डाइट से अलग है। दरअसल गोलो डाइट अलग-अलग और कईं तरह के खाद्य पदार्थों का मिश्रण है। गोलो डाइट में मीट शामिल होता है, सब्जियां शामिल होती हैं। एक तो यह आपकोआसानी से मिल भी जाती है और साथ ही इससे आपकी बॉडी में एनर्जी भी बनी रहती है। इस डाइट में आपको प्रोटीन, कार्ब्स, फैट का कॉम्बो लेना होता है यानि ऐसी डाइट जो  आपके शुगर लेवल को मेंटेन करें और आपकी बढ़ती भूख को शांत करें।

गोलो डाइट में खा सकते हैं ये चीजें

 गोलो डाइट में यह चीजें होती हैं शामिल…

.  चिकन, सी-फूड, डेयरी, नट, बीज, अंडे, दाल, हरी फलियां, आसानी से मिलने वाली हरी सब्जियों की अलग अलग वैराएटी को शामिल करें
. आप स्टार्च के लिए आलू, पत्तेदार साग, और हर दिन एक फल को भी अपनी डाइट का हिस्सा बना सकते हैं।
. अपनी डायट में आप अंडा शामिल कर सकते हैं
. चिकन खाएं। चिकन में भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है और इससे आपका वजन भी कम होता है।
.  जामुन, स्क्वैश, मीठे आलू, सफेद आलू, सेम, साबुत अनाज खाएं यानि ऐसी चीजें जो कार्ब्स युक्त फूड्स वाले होते हैं जो आपको आसानी से पतला करते हैं।
. इसके साथ ही आप अपनी डाइट में सब्जियां एड करें जैसे कि पालक, केल, ब्रोकोली, गोभू, खीरे और तोरी। अगर आप अंडा या चिकन नहीं खाते हैं तो आप इस तरह की डाइट को शामिल कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए एक बार देखें डाइट प्लान

हम आपको डाइट सेट करना का एक उदाहरण भी देते हैं। जैसे कि…

– आप नाश्ते में ऑमलेट, उबले हुए अंडे, ब्रोकली, उबले हुए पालक, टोस्ट, मक्खन, बादाम, ब्लू बैरी, सेब, ओट्स खा सकते हैं
– लंच में आप ग्रील चिकन, टूना सलाद, पालक, मिक्स वेजिटेबल सलाद, फ्रूट सलाद
– डिनर में ब्रोकली, अखरोट, चिकन ब्रेस्ट, शकरकंदी, गाजर

कैसे काम करती है यह डाइट?

इस पर हुए शोध की मानें तो गोलो डाइट आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। इसका एक कारण है कि आप इस डाइट में हेल्दी खाते हैं और आपकी खाने की बुरी आदतें भी ठीक हो जाती है। जिसके कारण आप खुद को काफी हद तक पतला कर सकते हैं और बढ़ते वजन को कंट्रोल कर सकते हैं। इसके साथ ही कुछ शोध में यह बात भी सामने आई है कि ज्यादा से ज्यादा 25 सप्ताह में लोगों ने करीब 50 से ज्यादा पाउंड तक वजन कम कर लिया है।

नोट- एक बार गोलो डाइट करने से पहले आप डॉक्टर से एक बार जरूर संपर्क करें और फिर ही इस डाइट को ट्राई करें।